हिन्दू धर्म वर्तमान राजनैतिक परिपेक्ष में


आज का सबसे मुख्य प्रश्न यही है की “क्या मुल्ला तुष्टिकरण को हम वास्तविक रूप में हम धर्मनिरपेक्षता का नाम दे सकते है?” कांग्रेस को देख कर यही आभास होता है कि कोई भी राजनैतिक दल सारी नैतिक जिम्मेदारियां ताक पर रख के कैसे नीचता की गहराइयों को छू सकता है!

आज कल विश्व की सबसे प्रमुख समस्या इस्लामी आतंकवाद है जिसके उन्मूलन के लिए विश्व के सबसे सशक्त प्रमुख देश अनवरत प्रयासरत हैं! दूसरी और भारत के भ्रष्ट नेता हैं जो चंद वोटों के लिए अपने देश से गद्दारी भी कर रहे हैं और धर्मनिरपेक्षता की आड में आतंकवादी संगठनो को शह दे रहे हैं!

यह कैसी विडम्बना है कि जब सनी लियॉन जैसी पोर्न कलाकार को राष्ट्रीय टेलीविज़न पर परोसा जाता है! और इस पर कोई आपत्ति नहीं की जाती है! यहाँ मुल्ले सरे आम तिरंगे को आग लगा देते हैं और कांग्रेस कुछ नहीं कहती! यहाँ एक आतंकवादी को ‘श्री हाफिज सईद’ कहता है वह भी भारत का गृह मंत्री! वह जहां एक “दामिनी” की इज्ज़त तार तार कर, बलात्कार कर, उसे नृशंसता से मार देने वाला आदमी नाबालिग करार दिया जाता है और उसकी बिना जांच हुए केवल 3 साल के लिए सिर्फ सुधार गृह में भेज जाता है! क्यों मेहरबान है उस पर यह कांग्रेस सरकार क्यूंकि उसका नाम “मोहम्मद अफरोज” है! अगर उसे सज़ा दी गयी तो मुल्ला समुदाय नाराज़ नहीं हो जायेगा? वह भी JNU में बैठे लोग! जो कि कांग्रेस के झूठे प्रचारतंत्र का हिस्सा हैं! यहाँ हिन्दू स्वयंसेवक जो कि सदा से देश पर अपना सर्वस्व लुटाता आया है उसे “भगवा आतंकवादी ” की संज्ञा दी जाती है!

यह वह देश है जहां ऐम ऐफ हुसैन जैसे मानसिक रोगी हिन्दू देवी देवताओ की अश्लील पेंटिंग बनाते है तो उसे “अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता” का नाम दिया जाता है! और जब इस देश के वरिष्ठ कलाकार कमल हसन इस्लामिक आतंवाद पर फिल्म बनाते हैं तो कांग्रेस जैसी पार्टी सिर्फ मुल्ला तुष्टिकरण के चलते उस पर प्रतिबन्ध लगाती है! कोर्ट की आज्ञा की अवहेलना करते हुए आगे बढचढ के फिल्म पर प्रतिबन्ध लगा रही है कांग्रेस!

यह सब साफ़ तौर पर वोटो की घिनौनी राजनीती है कोई धर्मनिरपेक्षता नहीं है! और इस सबको हम सब चुपचाप कब तक देखते रहेंगे? आज कांग्रेसी भारत माता का चीरहरण कर रहे हैं! हम कब तक पांडव, विदुर और धृतराष्ट्र बने रहेंगे?

अगर समय की यही मांग है तो हमें कृष्ण बनना ही होगा और एक और महाभारत का आवाहन करना होगा! इसी के बाद शायद शांति और धर्म की स्थापना संभव हो!

नरेन्द्र शशिशीश (फेसबुक)

(श्री नरेन्द्र शशिशीश फेसबुक पर युवा हिन्दू के नाते हिन्दूओं की चेतना के लिये अनथक प्रयास कर रहै हैं। उन के लेख को प्रस्तुत करना मेरे लिये उन के जोश, उत्साह, मेहनत और साहस के प्रति मैं अपना सौभाग्य समझता हूँ – चाँद शर्मा)

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

टैग का बादल